Friday, October 24, 2008

दीपावली की शुभ कामनाएं

दीप मल्लिका पर्व यह, सब को दे आनंद।
मंगलमय जीवन बने, रहे न कोई द्वंद।
दीप-शिखा की ज्योति में, मन का हो उल्लास।
बढे परस्पर स्नेह से, भारत का विशवास।
देता है शुभ कामना, युग-विमर्श परिवार।
होंगे सपने आपके, निश्चय ही साकार।
भेज रहे हैं आपतक, शब्दों के मिष्ठान,
आस्वादन से हो मुखर, होंठों की मुस्कान।
******************
YUG-VIMARSH

2 comments:

संगीता-जीवन सफ़र said...

दीप पर्व मन को करे ज्योतिर्मय/शुभकामनायें/

Suresh Chandra Gupta said...

इतने मीठे, इतने प्यारे,
शब्दों के सुंदर मिष्ठान,
दीवाली के मधुर पर्व पर,
करते हम सब का सम्मान,
धन्यवाद है आपका,
इन मीठी शुभकामनाओं पर.