Friday, December 4, 2009

आयोग के निष्कर्ष में अपराधी हैं कितने

आयोग के निष्कर्ष में अपराधी हैं कितने ।
सक्रिय थे विधवंस में जो साथी, हैं कितने ॥

सब जानते हैं द्न्ड क मिलना है असंभव,
सब को है पता दन्ड के सहभागी हैं कितने॥

मंत्रालयों से होते हैं आदेश जो पारित,
निष्ठा से उसे मानने पर राज़ी हैं कितने ॥

यश किस को मिला, कौन हुआ आज कलंकित,
कितने हैं प्रगतिशील, निशावादी हैं कितने ॥

सुख-शान्ति को लौटाने की इच्छा है किसे अब,
सन्यासियों के वेश में सन्यासी हैं कितने ॥
**************


1 comment:

निर्मला कपिला said...

सब जानते हैं द्न्ड क मिलना है असंभव,
सब को है पता दन्ड के सहभागी हैं कितने॥
ाउर आखिरी पँक्तियाँ लाजावब हैं बधाई